Nice to have a app like this "matrubharati" enjoying reading and meeting people who have same passion about reading.. about my self basically from rajkot (gujrat) and a business person.. like to makeing good friends


Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

फिर से तेरी यादों का मेरे दिल में बवंडर हैं.....

मौसम वही,सर्दी वही, वही दिलकश दिसम्बर हैं...


🌹🌹🌹

Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

जो तेरे इश्क़ का
रँग न रँगे मुझे तो
बेरँग अपना गाल लगे..!!
जब
रँग दे तेरा रँग मुझ को
तो हर रँग मुझे गुलाल' लगे....!!!!

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
2 महिना पूर्वी

પ્રેમ એટલે....

મારા શબ્દે તું
અને
તારા મૌને હું !

મારા ગુસ્સે તું
અને
તારા સ્મિતે હું !

મારા સુખમાં તું
અને
તારા દુઃખમાં હું !

મારા સ્મરણે તું
અને
તારા વિરહે હું !

મારામાં જે તું
અને
તારામાં જે હું !?

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
2 महिना पूर्वी

કાશ! હું સમજી શકું, કે
"વરસવું" અને "તરસવું "
એ બે શબ્દોની વચ્ચે
બે અક્ષરનો નહીં,
પણ બે અર્થનો તફાવત છે....!

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
2 महिना पूर्वी

અધૂરી એક કહાની ને,
પુરી કરી જાને તું....
જિંદગી ની છબી માં,
રંગ ભરી જાને તું....

લે આંખો પર હાથ મુકું છું,
અચાનક ક્યાંય થી આવી જાને તું..

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

चांद निकलेगा तो लोग दुआ मांगेगे

हम भी अपनी मुकद्दर का लिखा मांगेगे

हम तलबगार नही दुनिया के दौलत के

हम रब से सिर्फ आपकी वफा मांगेगे

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

शिकायत उन्ही से होती है जिससे

दिल से मोहब्बतब होती है,

बाकी कोई आता है कोई जाता है

क्या फर्क पड़ता है ।❤❤??

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

सब लब्ज पढ चुके पर इश्क सा कोई लब्ज ना मीला , बहोत ढूंढने के बाद भी कोई रक्श ना मीला , दिल इतना बडा बना दिया इस नाचीझ महोब्बत ने , बहोत ठोकरों के बाद भी कोई अपना सा ना मीला.

अजून वाचा
Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
2 महिना पूर्वी

લે..!!,થામી લે મારો હાથ,
તારો સાથ તું પૂરો કરી લે,
ઉતાર મને તારાં શબ્દોમાં,
'ને તારી શાયરી પૂરી કરી લે.

Anand तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 महिना पूर्वी

पहन कर उतार दिया जाए
वो लिबास नही है इश्क..!!

मोहन की प्रीत में जहर पी जाए
वो मीरा की चाहत है इश्क..!!❤