Ghanshyam Patel मातृभारती पर एक पाठक के रूप में है | Matrubharti

I am reading on Matrubharti!



મારી આંખોમાં ભરાઈ આવેલા ખાબોચિયાને......

આવીને ઘટ-ઘટ પી ગયું;

"તારું સ્મરણ".

Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
1 दिवस पूर्वी

आवाज भी नही होती
और हम चीख लेते है,

इसलिये हम बोलते नही
सिर्फ लिख लेते है ।

नुक्स निकालते हैं वो इस कदर मुझ में,

जैसे उन्हें खुदा चाहिए था और हम इंसान निकले l

Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English शुभ प्रभात
2 दिवस पूर्वी
Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English ब्लॉग
3 दिवस पूर्वी
Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English शुभ संध्या
4 दिवस पूर्वी

फिर तेरी याद,
फिर तेरी तलब,
फिर तेरी बातें,

क्यूँ मेरे दिल को,
तेरे बिना सुकूँ नहीं आता l

Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English शुभ संध्या
6 दिवस पूर्वी
Ghanshyam Patel तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English शुभ प्रभात
6 दिवस पूर्वी

लिखकर लाया था
कोरे कागज
पर परेशानियां,

लेकिन......

दोस्तों ने उसे
पतंग बनाकर
उड़ाना सिखा दिया l