Narendra Parmar मातृभारती पर एक पाठक के रूप में है | Matrubharti

Meri chahat tumshe hi


Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
16 मिनिट पूर्वी

मुझे क्या हुआ है वो आप नहीं समझोगे ।
इश्क तो मुझे हुआ है आपसे ।
मेरा दर्द आप नहीं समझोगे ?

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
1 दिवस पूर्वी

तुम्हारा साथ ऐसे ही हमें मिल जाए ।
जो बची खुची जिंदगी हमारी ?
तुम्हारे साथ हीं निकल जाएं ।

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
1 दिवस पूर्वी

मेरे दिल को तकलीफ़ होती है
ऐसी बात भी कीया करते हो तुम
फ़िर कहते हों में भी इश्क करती हुं तुमसे ?
ऐसे झूठे दावे भी कीया करते हो तुम ।

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
1 दिवस पूर्वी

हाल ए इश्क मेरा कम हीं समझते हैं वो ।
मुझसे भी ज्यादा मेरा ।
चहेरा देखने को तरसते हैं वो ।

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
2 दिवस पूर्वी

यहांपर हरकोई जानता है मुझे ।
मगर तुम्हारे अलावा इस दिल को ।
कोई नहीं पहेचानता है मुझे ।

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 दिवस पूर्वी

दिल की बातें तुम इतनी जल्द समझ जाओगे ।
ऐसा कभी सोचा नहीं था मैंने ।
ऐ एक सपना मेरा हक़ीक़त हों जाएगा ।
ऐसा कभी सोचा नहीं था मैंने ।

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
2 दिवस पूर्वी

तन्हां को भी तन्हां मत छोड़ना तुम ।
बेपनाह इश्क करता हुं में तुमसे ।
मुझे लावारिस बनाकर मत छोड़ना तुम ।
में और मेरी तन्हाईयां 😭

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
2 दिवस पूर्वी

न जाने मुझे कौनसा रोग लग गया है ।
अब तुम्हारे बगैर जीने को भी दिल नहीं कर रहा है ।

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
2 दिवस पूर्वी

तुम्हारे चूंप रहेनी की वज़ह ज़ान सकता हुं में ।
तुम्हैं अपना समझता हुं इसीलिए ।
तुम्हारा दर्द ज़ान सकता हुं में ।

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी विचार
3 दिवस पूर्वी

कभी कभी तुम्हारी खामोशियां भी ।
बड़ा हीं दर्द देती है दिलपर मेरे ।
ऐ तुम्हैं नहीं मालूम है कि ?
कितना चोंट देती है दिलपर मेरे ।

अजून वाचा