Meri chahat tumshe hi


Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
10 तास पूर्वी

कभी कभी मुझे अकेलेपन का अहसास होता है

जो मेरा अपना है वहीं मेरे मरने की दुआ करता है ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
2 दिवस पूर्वी

मेरे मरने की दुआ करती है

मेरी जानू

मेरे जनाजे के दिन मिठाई बांटती है

मेरी जानू ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી ब्लॉग
2 दिवस पूर्वी

आज़कल तो मैंने अंधेरे को हीं आशियाना बना दिया

अब तो उजाले का खाब देखना हीं मैंने छोड़ दिया ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી ब्लॉग
3 दिवस पूर्वी

मैंने तो Owar Confounders में हीं

अपनी चीता सजा दी

तुम्हें इश्क़ करके मैंने खुद को ही आग लगा दी ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી ब्लॉग
3 दिवस पूर्वी

मेरा इलाज़ भी तुम हो

मेरा दर्द भी तुम

अगर मर भी गया में तो ?

मेरी रुह भी तुम हो ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
4 दिवस पूर्वी

अब खुद को पागल होने का अहेसास होता है मुझे

जबसे इन अंधेरों में भी तेरा चेहरा दिखता है मुझे ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
4 दिवस पूर्वी

बेपनाह चाहते हुए भी मुझे कूंच नहीं मिला

सिर्फ आंखों में आसूं

और दिल को ज़ख़्म हीं मिला ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

अजून वाचा
Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
4 दिवस पूर्वी

तारीफें भी आजकल किसी को पसंद नहीं होती

सच्चाई भी आजकल किसी को हज़म नहीं होती ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी ब्लॉग
4 दिवस पूर्वी

दर्द दिल का कहां सहा जाता है मुझसे

अब तुमसे भी दूर

कहां रहा जाता है मुझसे ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Narendra Parmar तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
6 दिवस पूर्वी

मेरी घरवाली बहुत अच्छी है

कभी रोती तो कभी हसती है ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "