Hey, I am reading on Matrubharti!


Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
17 तास पूर्वी

નથી આદત આમ તો મને ચા ની
છું "અલ્પ" દીવાની, હું તો ચાહ ની

©"અલ્પ" પ્રશાંત
Prashant Panchal

Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
2 दिवस पूर्वी

ख़्याल ए उल्फ़त में बैठें है
तेरी यादों के घरोदें में बैठें है

©"अल्प" प्रशांत

Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી विचार
2 दिवस पूर्वी
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
3 दिवस पूर्वी
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
4 दिवस पूर्वी

चलो मान भी लिया हमने,
तुमने हमें भुला ही दिया होगा
पर "अल्प" अहेसास के बिना
तुमने क्या ख़ाक जिया होगा

©"अल्प" प्रशांत

अजून वाचा
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
5 दिवस पूर्वी
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
6 दिवस पूर्वी
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
7 दिवस पूर्वी

આદત મુજબ
કારણ વગર પણ કેટલીય વાતો થતી'તી
વગર મળે પણ
મારી ને તારી કેટલીય મુલાકાતો થતી'તી

©"અલ્પ" પ્રશાંત
Prashant Panchal

अजून वाचा
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી विचार
1 आठवडा पूर्वी
Prashant Panchal तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले ગુજરાતી शायरी
1 आठवडा पूर्वी