Full story of my life...._ myself a half writer...


Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
7 तास पूर्वी

बहुत उपहास हुआ दिल के मारों का सावन में।
फिर वो पतझड़ आने की दुआए करने लगे।।

#उपहास

watch this video....

it's for SSR..💔

https://youtu.be/2P3CsHcxQ54

Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
24 तास पूर्वी

दर्द की धुन पे थिरकती जा रही हैं जिंदगी।
समेटी नहीं जाती बिखरती जा रही हैं जिंदगी।।
रोज रोज बहुत कोशिश करता हूं जीने की।
मगर रोज रोज मरती जा रही हैं जिंदगी।।

अजून वाचा
Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी प्रेरक
1 दिवस पूर्वी

लाख तूफ़ान हो तुम आगे ही बढ़ते रहना।
ज़ख्म कांटो के हस्ते हस्ते सहते रहना।।
कर्म की भट्टी में तुम तपते रहना।
जब तक न बन जाओ तुम देश का गहना।।

#गहना

अजून वाचा
Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
4 महिना पूर्वी

उस सितमगर की बेवफाई के सितम ना "पूछना" हम कैसे सहते है।
रुसवा हुआ जमाना मुझसे अब लोग जाने क्या-क्या कहते हैं।।

#पूछना

अजून वाचा

आइने के सामने खड़े होकर,मेरी तरफ से थोड़ा गुलाल लगा लेना,
दूर है हम आपसे, कुछ इस तरह से तुम हमसे होली मना लेना..

#Happy_holi

अजून वाचा
Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
5 महिना पूर्वी

उतरता नहीं तेरे हुस्न के नशे में आज भी झूम रहा हूं,
कभी तस्वीर चूमता तेरी तो कभी आइना चूम रहा हूं,
तेरा मिलकर मुझे बाहों में भरना सुकून दो पल का,
तेरी जुदाई का ग़म लिए मै पागल सदियों से घूम रहा हूं..

#kiss #चुम्बन

अजून वाचा
Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले English शायरी
5 महिना पूर्वी

We are made for love not for hatred...✍️✍️

Satyendra prajapati तुमचे अपडेट्स पोस्ट झाले हिंदी शायरी
5 महिना पूर्वी

चलो सारी दुनिया को मोहब्बत सिखाई जाए,
मेरी इश्क-ए-सदा आसमां पर ले जाई जाए,
जो लोग होश में है उन्हें छोड़ दिया जाए,
और जो नशे में है उन्हें थोड़ी और पिलाई जाए..

अजून वाचा

वो गंगाधर वो जटाधर वही कामारी वही कपाली है,
मेरे शिव विश्वेश्वर ने ही तो सारी सृष्टि संभाली है।।

इष्ट वही है, शिष्ठ वही है वही तो सबसे विशिष्ठ है।
सब है मेरा उनके भरोसे महादेव ही तो शिपिविष्ठ है।।

क्या डरना आंधी तूफ़ानों से, है विसात क्या भूचाल की,
ये हृदय तुझको कैसी व्याकुलता तू शरण में है महाकाल की,

इस नश्वर शरीर की मृत्यु के भय से क्यों डरता है रे तू मन।
वो सकल सुजान सत्य सनातन बस तू उनका कर सुमरन।।

🙏ॐ नमः शिवाय__ॐ नमः शिवाय🙏

अजून वाचा